क्या आपके ‘आईडिया ‘ में ‘नमक’ है?

 क्या आपके ‘आईडिया ‘  में  ‘नमक’ है?

Does your IDEA comprise Salt?

अच्छा, तो तुम  भी जा रहे है अपने ‘आईडिया‘  को पूरा करने, एक ही ज़िंदगी है, क्यों किसी और के सपनों  के लिए काम करे?
बस सोच लिया है की अब सिर्फ अपने इरादों  पर काम करेंगे, जिसे कोई नहीं रोक सकता ?

Click to Feel antimotivational!

वो ५० साल के पापा तो बिलकुल भी नहीं।   पापा  अपने बच्चो को समझते नहीं, वे अपने सपनो को बच्चों पर   थोपते हैं । तुम्हें  वो करियर चुनने को कहते है, जिसमे तुम्हारा  इंटरस्ट नहीं , और तुम  दुखी हो जाते है, कुंठित हो जाते है।
कितने स्वार्थी है आजकल के पेरेंट्स।  क्या सच में ?


image source:www.theguardian.com

अरे बच्चे, ये सब किसने कहा आपको,  की पेरेंट्स समझते नहीं?
कुछ ज्ञानीगुरु (मोटिवेशनल स्पीकर्स) ने, या कही कुछ किताबो में  पढ़े ऐसे आर्टिकल, या दोस्तों  के साथ मल्टीप्लेक्स में पापा के पैसो से  ३ इडियट्स मूवी देखते हुए एंड पिज़्ज़ा  खाते हुए, ये अद्भुत अहसास हुआ!

अब समझिए की जिन ज्ञानी गुरूओं  ने चंद सफल लोग जैसे, स्टीव जॉब्स, मर्क जुकेरबर्ग ,बिल गेट्स  की कहानियां   सुनाई , की किस तरह से उन्होंने अपने कॉलेज की पढाई बीच में  छोड़ कर, अपने आईडिया बुने।  क्या उन्ही गुरुऒ  ने ये बताया की बाकि सब असफल लोग फिर से पापा के पास आये और कहा की पापा आप सही थे।
नहीं , तुम्हे हतोत्साहित  नहीं होना  है, तुम्हारा   इरादा और प्रयास सराहनीय है , हमारी गवर्नमेंट  भी सहयोग कर रह रही है, नए आइडियाज एंड उधमियों को, लेकिन एक बात तो  समझिए,

Click to read, How to be Public Figure Instantly

ज़िंदगी को अपने तरीके से खुल कर जीने से पहले  जरूरी है की  तुम   ज़िंदगी जीने का ‘सामान’ कमा पाओ। 

बस एक छोटा सा मंथन कर लो, अपनों आईडिया  को  तोल  लो, अगर वज़न  है तो पकड़ लो, और नहीं है तो कोई बात नहीं,  पापा  की सुन लो।

out-of-the-box-thinking-16-638 (1)

१. क्या आपके   ‘आईडिया ‘  में  नमक है?

मालूम कीजिये जरा बाजार जाकर की जिस ‘सपने’  पर तुम काम करने चाहते हो, वैसे या उससे बेहतर नमकीन सपने बाजार में  पहले से बिक रहे है , तो फिर हो गया न तुम्हारा सपना फीका।  क्योंकि ‘सपने’ को  सफल करने के लिए जरुरी है, वो बिलकुल अनोखा या औरों  से बेहतर हो।

imagesource:http://image.slidesharecdn.com/outoftheboxthinking

२. क्या आपके प्लान ‘योजना’ में  ‘पकड़’ है ?
1398621850_strategy_planning
imagesource: besocialchange.orgठीक है, जब सारी दुनिया  लगी है आइडियाज  परोसने  में, तो बामुश्किल हे  तुम्हारे वाले  का अनोखा होना!
पर तुम  अपने फीके सपनों  को भी एक मजबूत प्लान के साथ पूरा करो , तो बाजार में  अपनी जगह बना सकते है. तो चेक कीजिये की क्या तुम्हारे  प्लान में  वो ‘पकड़’ है?
क्या तुम आश्वासित  हो की तुम्हारे द्वारा चुने गए  ‘सही समय’ एंड ‘मार्केटिंग’ तरीके से तुम अपने आईडिया  को बख़ूबी   बेच पाओगे।३. क्या  रिसोर्सेज(संसाधन ) में ‘चमक’ है ?

HeaderResources

जी, मालूम कीजिये की सपने को चलाने  के लिए जो पैसा, जगह,  टीम या जो रिसोर्सेज  चाहिए , क्या तुम्हारे पास है ये सब कुछ?
क्योंकि  एक फीका और साधारण आईडिया  भी स्वादिष एवं अदभूत  दिखाया जा सकता है, अगर तुम्हारे  पास बहुत पैसे है इसकी मार्केटिंग पर खर्च

imagesource:www.entrepreneurship.org
करने को या  अपना नेटवर्क और टीम  है, जो इसे चमका सके,सज़ा  सके।

४. क्या तुम्हारे  इरादों  में  ‘ दमक  ‘ है?
18547381-Strong-determination-managing-risk-and-uncertainty-with-a-large-elephant-climbing-a-rope-high-in-the-Stock-Photo
image source:www.123rf.com

हो सकता है आईडिया  नया नहीं, प्लान भी मजबूत नहीं, रिसोर्सेज की तंगी है, पर अगर इरादे दमदार है, तो कौन रोकेगा तुम्हें ?
असफ़ल   होकर भी दुबारा शुरू कर सकते है, लेकिन पहले आत्ममंथन कीजिये की तुम  तैयार हो , असफ़ल  होकर फिर से शुरू करने के लिए, और बार बार गिरने और संभलने  के लिये और कब तक कितनी बार?
क्योंकि ‘ सपने’ पूरा करने  की खुराक ‘धैर्य’ है.

बस तो बच्चे, इन चारों  में से कोई एक भी  बात का जवाब हाँ है, तो तुम  कह दो  अपने पापा को, की वो चिंता न करे.
लेकिन अगर सभी  का उत्तर ना  है तो ,तो उनकी सुन लीजिये, वो न तो नासमझ है , न ही बुरे और न ही अपने सपने आप पर थोप रहे हैं , बस  इन चार मौलिक प्रश्नो के जवाब मालुम  है उन्हें , वो जानते है कितना वज़न हे तुम्हारे इरादों  में और कितनी  कीमत है तुम्हारे आईडिया  की।
 वो सिर्फ तुम्हारे लिए एक सुरक्षित भविष्य चाहते है। 

और इस तरह से समझिए  की, जरूरी तो  नहीं ज़िंदगी में  मीनिंग (अर्थ)  का मतलब सिर्फ  ‘खुद‘ के आईडिया  को पूरा करना है।  क्या ये कोई कम है की आप जिनके ‘आईडिया ‘ के लिए काम करंगे, वो उसे आपके बिना  पूरा नहीं कर सकते।

band-2image source:lenpenzo.com

हर एक उद्धयमी  नहीं होता, कुछ लोग बहुत अच्छे टीम मेंबर, टेक्निकल एक्सपर्ट होते हे , या कुछ और  स्किल्स में   निपुण होते है, और अपनी बेहतरीन सर्विसेज (सेवाए ) से औरों  के सपनो को उंचाइयों  तक पहुँचने में  मदद करते हे।   तलाशिए कि , क्या तुम  वो एक्सपर्ट हो ?
और कुछ लोग बने है, देश के सपनो को पूरा करने के लिए, हो सकता है तुम एक गोवेर्मेंट एम्प्लोयी बनो , जरूरी नहीं की  कुछ नया कर पाओ , लेकिन तुम्हारे  साधारण काम की जरूरत है देश के असाधारण  विकास के लिए।

इसीलिए जो भी चुने अपनी समझ के साथ, बड़ो के साथ बैठ  कर विचार विमर्श करके चुने , और अपने  पर गर्व करे, पेरेंट्स  की सलाह को अहमियत दे.
6-awesome-green-fathers-day-gifts
image source:www.inhabitots.com

क्योंकि पापा से बेहतर तुम्हें  कोई और नहीं समझ सकता।

Share It Pls, If You Loved this Story :)) Show Your Little Love!
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*